Teri Pida Maa Dwi Aansu - Narendra Singh Negi | Garhwali Song Lyrics

Teri Pida Maa Dwi Aansu - Narendra Singh Negi | Garhwali Song Lyrics
Teri Pida Maa Dwi Aansu - Narendra Singh Negi

 Himachali Song Lyrics के सभी दर्शकों को हमारा प्यार भरा नमस्कार !!

Teri Pida Maa Dwi Aansu Garhwali Song Lyrics : आपके लिए हम आज लेकर आए है Teri Pida Maa Dwi Aansu Song Lyrics हिन्दी में, जो की Latest Garhwali Pahadi Song है। जिसको अपने मीठे सुरों से सजाया है Narendra Singh Negi ने। गीत के सुंदर लिरिक्स Narendra Singh Negi द्वारा लिखे गए है।, म्यूजिक दिया है Umar Shaikh ने। 

                           यह गीत वास्तव में एक पति और पत्नी के बीच की हार्दिक बातचीत है। पति शहर में अपने गांव के बाहर काम कर रहा है, और उसकी पत्नी गांव में रहकर घर और बड़ों की देखभाल कर रही है। गाने में पति-पत्नी दोनों एक-दूसरे से अपना दुख-दुख बांटने को कह रहे हैं ताकि उनका दुख कम हो सके.

गाने में पति कहते हैं कि अगर मैं तुम्हारी याद और दुख में रोता हूं, और इससे तुम्हारा दुख कम हो जाता है, तो अपना दुख मुझसे साझा करो। पत्नी कहती है कि अगर दिल में कोई दर्द है तो उसे अपने तक मत रखो। इसे मेरे साथ अपने पत्रों में साझा करें ताकि यह आपके दर्द को कम कर सके। पति भी कहता है कि ऐसा न हो कि मैं फूलों की सेज में सो रही हूं और तेरे दिल में कांटे हैं। पत्नी कहती है कि ऐसा नहीं होना चाहिए कि मैं किसी बात पर हंस रही हूं और तुम्हारी आंखों से आंसू बह रहे हैं। पति और पत्नी दोनों प्रार्थना करते हैं कि ऐसा न हो कि एक आनंद ले रहा हो और एक अच्छा समय बिता रहा हो जबकि दूसरा दुखी और दुखी हो।

पत्नी भी कहती है कि ऐसा कभी नहीं होना चाहिए कि मैं यहां स्वादिष्ट खाना बना रही हूं और आप खाना पकाने के लिए संसाधनों और गैस की कमी के कारण खाना नहीं बना पा रहे हैं। पति का यह भी कहना है कि वह प्रार्थना करता है कि ऐसा कभी न हो कि उसे प्यास लगे और उसकी प्यास बुझ जाए। पति की भी इच्छा होती है कि ऐसा कभी न हो कि वह भविष्य में अपनी पत्नी से दोबारा मिलना छोड़ दे और वह उसका इंतजार कर रही हो। पत्नी भी चाहती है कि ऐसा कभी न हो कि वह अपने पति के पत्रों की प्रतीक्षा कर रही हो और कलम उसके पति के हाथ से गिर जाए।

यह गीत आधुनिक समय की स्थिति को दर्शाता है जहां पति को काम और बेहतर अवसरों के लिए गांव छोड़कर शहर जाना पड़ता है। वह अकेला है और अपनी पत्नी को याद कर रहा है। लेकिन वह अपनी पत्नी से बहुत प्यार करता है और चाहता है कि उसकी पत्नी खुश रहे। वहीं पत्नी भी पति को याद कर रही है. पत्नी को चिंता है कि उसका पति अकेला है और वह बहुत दर्द और दुख में रहा होगा। वे दोनों एक-दूसरे की परवाह करते हैं और इसलिए एक-दूसरे के साथ साझा करके अपना दुख कम करके एक-दूसरे की मदद करना चाहेंगे।

नरेंद्र सिंग नेगी और अनुराधा निराला दोनों गढ़वाली संगीत उद्योग के प्रमुख गायक हैं। उन्हें गढ़वाली संगीत उद्योग का अग्रणी माना जाता है। दोनों ने एक साथ कई गाने गाए हैं जैसे कि मालू ग्विरालु का बिच, तुमरी खुद मां और घुगुती घुरोना लैगी। नरेंद्र सिंह ने खुद फुलारी, कुई ता बात होली, समदोला का द्वे दिन, काई गौवई की होली, बीरू भादु कू देश, दिल्ली वाला द्यूरा और इखी ए पृथ्वी मां जैसे कई गाने गाए हैं।

Teri Pida Maa Dwi Aansu Song Lyrics Singer Narendra Singh Negi

Teri Pida Maa Dwi Aansu LyricsTeri Pida Maa Dwi Aansu Song Lyrics In Hindi English Is Latest Garhwali Pahadi Song Is Sung By Singer Narendra Singh Negi. Its Beautiful Lyrics Are Penned By Narendra Singh Negi, These Beautiful Lyrics Have Been Molded In The Music Environment By Umar Shaikh.

Song : Teri Pida Maa Dwi Aansu
Album : Khud- Uttrakahandi Chitrageet
Singer : Narendra Singh Negi
Music Director: Narendra Singh Negi
Lyrics: Narendra Singh Negi
Music Label: T-Series 

Teri Pida Maa Dwi Aansu Lyrics In Hindi

तेरि पिड़ा मां दुई आंसु मेरा भि,
तोरि जाला पिड़ा ना लुकेई।
ज्यू हल्कु ह्वै जालो तेरो भि, 
दुई आंखर चिट्ठी मां लेखि देई।
तेरि पिड़ा मां दुई आंसु मेरा भि, 
तोरि जाला पिड़ा ना लुकेई।
पिड़ा ना लुकेई।


तख तेरि कळेजि कांड़ों दुपि हो।
यख रो मि फूलो मां हिटणुं।
न हो कखि अजाणम ना हो , ना हो।
तख तेरि आंखि आंसुन भरि हो, 
यख रो मैं खित-खित हैंसणुं।
न हो कभि अजाणम न हो, न हो।
ज्यू हल्कु ह्वे जालो तेरो भि, 
दुई आंखर चिट्ठी मां लेखि देई।
तेरि पिड़ा मां दुई आंसु मेरा भि, 
तोरि जाला पिड़ा ना लुकेई, पिड़ा ना लुकेई।

तख तेरा चुल्ला उन्द आग न जगि हो, 
यखि रों मैं तै का चढाणुं।
न हो कखि अजाणम न हो, न हो।
तखि तेरि गौळि हो तिसळ उबाणि, 
यख रौ मैं छमौटा लगाणुं।
न हो कभि अजाणम न हो, न हो।
दुख हल्को ह्वै जालो तेरो भि, 
बांटि लेई दुख ना छुपैई।
तेरि पिड़ा मां दुई आंसु मेरा भि, 
तोरि जाला पिड़ा ना लुकेई, 
पिड़ा ना लुकेई।


तख तेरि स्यांणि हो मैं खोज्याणि, 
यख छोड़ि दयु आस पलणु।
न हो कखि अजाणम न हो, न हो।
तख तेरा हाथ बिटि छुटि जौ कळम, 
यख रौं मैं चिठ्युं जग्वल्णूं।
न हो कखि अजाणम न हो, न हो।
ज्यू हल्कु ह्वे जालो तेरो भि, 
दुई आंखर चिट्ठी मां लेखि देई।
तेरि पिड़ा मां दुई आंसु मेरा भि, 
तोरि जाला पिड़ा ना लुकेई, 
पिड़ा ना लुकेई।



Teri Pida Maa Dwi Aansu Lyrics In English

Teri Pida Maa Dwi Aansu Garhwali Song Lyrics In English Not Available Yet. Please Try After Some Time We Are Working On It. If You Want These Lyrics In English Quickly, Then Tell Us In The Comment Box Below.

Web TitleTeri Pida Maa Dwi Aansu Song Lyrics Singer Narendra Singh Negi.

Teri Pida Maa Dwi Aansu Garhwali Pahadi Song From The Album Chali Bhai Motar Chali Is Released On 21 May 2011. The Duration Of The Song Is 6:29 This Song Is Sung By Narendra Singh Negi.

This Song Teri Pida Maa Dwi Aansu Is Here Just For Promotional Purposes Only. If You Are The Rightful Owner Of Any Content/Song Lyrics Shown Or Uploaded To Himachalisonglyrics.com And You Want To Delete It, Please E-mail Us.

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

buttons=(Accept !) days=(20)

हिमाचली सांग लिरिक्स पर आपका स्वागत है। हमारी वेबसाइट आपके अनुभव को बढ़ाने के लिए Cookies का उपयोग करती है। Learn More
Accept !